Computer memory kya hai और यह कितने प्रकार के होते है?

computer memory kya hai

क्या आप जानना चाहते है कि computer memory kya hai?(what is computer memory in Hindi?) वैसे हर कोई अपने घर में या अपने office में computer, laptop और smartphone का उपयोग करता है। और हर कोई अपने laptop ,computer और smartphone में data ( photo, files, video, audio) और other information को store करके रखता हैं लेकिन क्या आप जानते है कि ये सारे data और information एक device  में store होती है जिसको memory device कहते है। 

चलिए एक example के साथ समझते है कि computer memory kya hai? जैसे हर मनुष्य को कुछ भी याद रखने या कुछ भी काम करने के लिए memory ki आवश्यकता पड़ती है ठीक उसी प्रकार computer या laptop या smartphone को  operate करने के लिए memory की आवश्यकता पड़ती है। लेकिन क्या आप जानते है?  Memory कितने प्रकार के होते है? और इनके function के बारे में। 

इन सब चीजों को जानना बहुत जरूरी है ताकि इनका हम सही से उपयोग कर सके। तो आज मै आपको computer memory के बारे में हर चीज को  इस article में बताऊंगा। जिसकी मदद से आपकी हर एक doubt clear हो जाए। तो चलिए शुरू करते है। कि computer memory kya hai और कितने प्रकार के होते है?

विषय – सूची      

 

Computer memory kya hai ?( What is computer memory in Hindi)

अगल अलग sources से प्राप्त data, information और instruction को store करने को memory कहते है। दूसरे शब्द में याद रखना भी कहते है। ये  memory एक मनुष्य के mind कि तरह होता है। Computer याद रखने के लिए जिस device का उपयोग करता है उसे computer memory कहते है। computer memory एक ऐसा storage device है।

जहां पर  data को process किया जाता है। और जो भी instruction चाहिए processing के लिए वो वहा store किया जाता है। Computer memory को छोटे छोटे parts में devide किया जाता है  और हर एक parts को cells कहते है। और  हर cells कि अपनी अलग एक address होती है। जिसे cell address या path भी कहते है। और इन्हीं cells में data store होता है। और यह  data 0  से 1 तक varies करती है।

Example : यदि अपके computer में 10k words है, तब इस memory में 10*1024= 10024 memory locations या path होगा। इस memory path कि address 0 से 10024 तक varies करती है।

Memory किसी भी laptop, computer aur smartphone का महत्वपूर्ण भाग होता है। क्योंकि इसके बिना कोई भी computer, laptop और smartphone एक simple task नहीं कर पाएगा।

 

Computer memory के प्रकार

Computer में data को volatile और nonvolatile के रूप में store किया जाता है। जो अलग अलग memory का उपयोग करते है। Memory तीन प्रकार के होते है।

  1. Cache memory
  2. Primary memory/main memory
  3. Secondary memory

Cache memory क्या होती है?

Cache memory computer की बहुत हि fast memory Hoti है  इस memory में frequently उपयोग होने वाले program और instruction को store किया जाता है। जिससे CPU fast work कर सके।

CPU और Main memory के बीच में cache memory स्थित होती है। Cache memory में store data और instruction को CPU पहले ही प्राप्त कर लेता है जिससे वह कार्य दुबारा ना हो और ये fast work कर सकें। Cache memory में store data और  instruction को Operating System के माध्यम से भेजा जाता है।

जिसे फिर CPU के द्वारा उपयोग होता है।  Cache memory ki storage capacity limited होती हैं। इसीलिए उसे बार बार clean करना होता है। और यह data user के कोई काम का नहीं होता है।

 

Cache memory की विशेषताएं

  • Cache memory बहुत fast होती है दूसरे main memory कि अपेक्षा।
  • इनकी storage capacity limited होती है।
  • Stored Data को बार बार clean करना होता है।
  • Cache memory data को temporary उपयोग के लिए store करती है।

 

Primary memory

Primary memory को main memory और volatile memory भी कहते है। Primary memory CPU(Central processing unit) का एक part है। जिससे CPU, data और instruction  को पाता है और उसे process करता है। Process करने के बाद उसे  save करके रखता है।

Primary memory में present में जो काम हो रहा होता है उस data और instruction को store करता है। और जब process खत्म हो जाता है तो data अपने आप delete हो जाता है। और अगले process का data और instruction को store करता है। जब computer shutdown होता है तो सारा data delete हो जाता है।

Primary memory mainly दो प्रकार के होते है

  1. RAM (Random Access Memory)
  2. ROM(Read only Memory)

 

Primary memory (main memory) की विशेषताएं

  • Primary memory को main memory भी कहते है।
  • Primary memory CPU(Central Processing unit) का एक part है।
  • Primary memory volatile memory होती है।
  • Primary memory दूसरे memory के अपेक्षा fast होती है।
  • Primary memory के बिना कोई computer run नहीं कर सकता है।
  • Shutdown होने के बाद या काम खत्म होने के बाद data अपने आप delete हो जाता है।

 

RAM क्या है?

RAM का full form Random Access Memory है। यह main memory या primary memory का एक part है। CPU के माध्यम से जो भी कार्य present में किया जाता है वह data और instruction RAM में store होता हैं। और  RAM  एक CPU का भाग है। जिसका data को CPU से direct access किया जा सकता है। RAM का उपयोग data को read और write करने के लिए होता है।

जिसको CPU Randomly access करता है। RAM एक volatile memory हैं। मतलब, जब computer shutdown होता है या powersuply बंद हो जाती है तब इसमें सारा stored data और information अपने आप delete हो जाता है।

 

RAM के प्रकार

RAM mainly दो प्रकार के होते है।

  1. SRAM (Static RAM)
  2. DRAM (Dynamic RAM)

 

ROM क्या है?

ROM का full form Read Only Memory है। इसका data केवल read किया जाता है। ROM एक non-volatile memory होती है। जिसमे computer के functionalty से related। Data और instruction store होते है। Computer को start करने का instruction इसी memory में store होता है, जिसे Booting कहते है।

Comouter के अलावा  अन्य सभी electronics devices को ROM द्वारा programmed किया जाता हैं। इस memory में data हमेशा रहता है और shutdown होने पर या powersuply बंद होने पर भी data delete नहीं होती है data store रहती हैं।

 

ROM के प्रकार

  1. MROM (Mask Read Only Memory)
  2. PROM (Programmable Read Only Memory )
  3. EPROM (Erasable Programmable Read Only Memory )
  4. EEPROM (Electrically Erasable Programmable Read Only Memory)

 

Secondary memory

Secondary memory को external aur non-volatile memory भी कहते है। Secondary memory का उपयोग data को permanently store करने में होता है। और secondary memory में जो भी data store होता है वह हमेशा सुरक्षित रहता है। जिसको यूजर  और computer कभी भी असानी से access कर पाते है। Secondary memory CPU का part नहीं है। Secondary memory का data पहले main memory में जाता है और उसके बाद CPU इसे उपयोग करता है। Secondary memory की storage capacity दूसरे memory की अपेक्षा बहुत ज्यादा होती है।

जैसे, Hard Disks, Falsh Drive, Pan Drives, CD, DVD, etc।

 

Secondary memory की विशेषताएं

  • Secondary memory को external memory और backup memory भी कहते है।
  • Secondary memory Non-volatile memory हैं।
  • इसकी storage capacity बहुत जायदा होती है।
  • इसका उपयोग data को permanently store करने के लिए किया जाता है।
  • Shutdown होने पर या powersuply बंद होने पर इसका data delete नहीं होता है।
  • Secondary memory Bahut slow होती हैं दूसरे memory की अपेक्षा।

 

आपने क्या सीखा?

 इस article में आपको Computer memory kya hai के विषय में पूरी जानकारी दी है आपने सीखा Computer memory kya hai और कितने प्रकार का होता है? और उनके उपयोग।

मुझे उम्मीद है यह article आपको जरुर पसंद आया होगा। और आपको पूरी जानकारी मिली होगी। इस article को अपने दोस्तो के साथ और सोशल मीडिया जैसे :- facebook, whatsapp, twitter पर शेयर करे ताकि उन्हें भी computer memory kya hai के विषय में जानकारी मिले।

यदि आपका कोई सवाल है तो comment करके जरुर बताएं और आपको यह article kaise लगा यह भी comment Karke बताए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here