RAM क्या है, इसके प्रकार और उपयोग क्या है?

ram क्या है

क्या आपको पता है कि RAM क्या है? ( What is RAM in Hindi) और इसका full form क्या है? (What is fullform of RAM)। तो आप  RAM  के विषय में कुछ जरुर जानते होंगे या RAM शब्द आपने जरुर सुना होगा।

 ऐसा मै क्यों कह रहा हूं क्योंकि जब आप अपने लिए या किसी और के लिए computer, laptop या smartphone खरीदने के लिए जाते हो , तो आपका पहला सवाल यही रहता है दुकानदार से RAM कितना GB का है। क्योंकि आप शायद ये जानते है कि जितना ज्यादा RAM  होगा। उतनी अच्छी parformance होगी आपके computer, laptop और smartphone की।

और बहुत से लोग ये सोचते है की यदि हमारे computer, laptop या smartphone में ज्यादा RAM होगी तो कभी भी hang नहीं होगा , या कभी। भी slow नहीं चलेगा। और सबके मन में एक सवाल आता है कि RAM का काम क्या है? और RAM का मतलब क्या होता है? इन सभी का जवाब आपको इस लेख में मिलेगा और इसके साथ साथ कुछ memory के विषय में भी बात करेंगे।

तो चलिए जानते है कि RAM kya hai in hindi

 

Memory क्या है और कितने प्रकार कि होती है?

अगल अलग sources से प्राप्त data, information और instruction को store करने को memory कहते है। दूसरे शब्द में याद रखना भी कहते है। ये  memory एक मनुष्य के mind कि तरह होता है। Computer याद रखने के लिए जिस device का उपयोग करता है उसे computer memory कहते है। computer memory एक ऐसा storage device है।

जहां पर  data को process किया जाता है। और जो भी instruction चाहिए processing के लिए वो वहा store किया जाता है। Computer memory को छोटे छोटे parts में devide किया जाता है  और हर एक parts को cells कहते है। और  हर cells कि अपनी अलग एक address होती है। जिसे cell address या path भी कहते है। और इन्हीं cells में data store होता है। और यह  data 0  से 1 तक varies करती है।

Example : यदि अपके computer में 10k words है, तब इस memory में 10*1024= 10240 memory locations या path होगा। इस memory path कि address 0 से 10240 तक varies करती है।

Memory किसी भी laptop, computer aur smartphone का महत्वपूर्ण भाग होता है। क्योंकि इसके बिना कोई भी computer, laptop और smartphone एक simple task नहीं कर पाएगा।

 

Memory के प्रकार

Computer में data को volatile और nonvolatile के रूप में store किया जाता है। जो अलग अलग memory का उपयोग करते है। Memory तीन प्रकार के होते है।

  1. Primary memory/main memory
  2. Secondary memory
  3. Cache memory

Note: इस लेख में शीर्फ़ मै primary memory के विषय में बात करूंगा।

 

Primary memory क्या है?

Primary memory को main memory और volatile memory भी कहते है। Primary memory CPU(Central processing unit) का एक part है। जिससे CPU, data और instruction  को पाता है और उसे process करता है। Process करने के बाद उसे  save करके रखता है।

Primary memory में present में जो काम हो रहा होता है उस data और instruction को store करता है। और जब process खत्म हो जाता है तो data अपने आप delete हो जाता है। और अगले process का data और instruction को store करता है। जब computer shutdown होता है तो सारा data delete हो जाता है।

Primary memory mainly दो प्रकार के होते है

  1. RAM (Random Access Memory)
  2. ROM(Read only Memory)

 

RAM क्या है?( What is RAM in Hindi)

RAM का full form Random Access Memory है। यह main memory या primary memory का एक part है। CPU के माध्यम से जो भी कार्य present में किया जाता है वह data और instruction RAM में store होता हैं। और  RAM  एक CPU का भाग है। जिसका data को CPU से direct access किया जा सकता है। RAM का उपयोग data को read और write करने के लिए होता है। RAM एक volatile memory हैं। मतलब, जब computer shutdown होता है या powersuply बंद हो जाती है इसमें का सारा data delete हो जाता है। इसीलिए इसे volatile memory कहते है।

 

RAM के क्या विशेषताएं होते है? ( What is characteristics of RAM in Hindi)

मुझे उम्मीद है आप RAM के बारे में जान गए होंगे लेकिन अब जानते है कि RAM के क्या क्या properties है?

  • RAM एक volatile memory है
  • दूसरे memory कि अपेक्षा RAM बहुत महंगी होती है।
  • Secondary memory की तुलना में RAM कि capacity कम होती है।
  • Secondary memory कि तुलना में इसकी स्पीड बहुत fast होती है।
  • Shutdown होने पर या powersupply बंद होने पर RAM में store data खाली हो जाता है।
  • कोई भी program , application इस memory में run करते है।

 

RAM के प्रकार ( types of RAM)

अब मै बताऊंगा की RAM के कितने प्रकार है RAM mainly दो प्रकार के होते है।

  1. SRAM (Static RAM)
  2. DRAM(Dynamic RAM)

1.Static RAM क्या है?

SRAM का fullform static Random Access memory होता है। आपको इस शब्द static से कुछ ना कुछ अनुमान लग ही गया होगा। इसका मतलब है स्थिर । इसका मतलब इसमें data store  तब तक रहता है जब तक इसमें powersupply होती है जब पॉवर या बिजली बंद हो जाती तब इसमें store data अपने आप delete हो जाता हैं।

SRAM को बार बार refresh करने की जरूरत नहीं पड़ती है क्योंकि इसमें data स्थिर रहता है। एक same size के data को store करने के लिए SRAM को DRAM से ज्यादा chips कि जरूरत पड़ती है। इसीलिए SRAM महंगा होता है क्योंकि इसको बनाने में DRAM से ज्यादा पैसे लगते  है। इसलिए इसको cache memory की तरह उपयोग किया जाता है। Cache memory सबसे fast memory है।

Advantages and Disadvantages of SRAM in hindi

Advantages of SRAM  in Hindi

  1. यह DRAM से बहुत fast है।
  2. इसको बार बार refresh करने की जरूरत नहीं पड़ती है।
  3. इसको cache memory के लिए उपयोग किया जाता है।
  4. यह ज्यादा दिनों तक चलती है।

Disadvantages of SRAM in hindi

  1. यह बहुत महंगा है।
  2. यह एक volatile memory हैं जब power off होता है तब इसमें का data अपने आप delete हो जाता है।
  3. इसकी capacity कम होती है।
  4. SRAM का डिजाइन बहुत ही कठिन है।
  5. यह power ज्यादा consume करता है।

2.DRAM क्या है?(what is DRAM in Hindi)

DRAM का fullform Dynamic Random Access Memory होती है। Dyanmic शब्द से आपको कुछ समझ में आ गया होगा । Dynamic का मतलब है। गतिमान ( हमेशा बदलते रहना ) इसीलिए DRAM को बार बार  refresh करना पड़ता है। इस memory को CPU कि main memory के रूप में उपयोग किया जाता है। क्योंकि इससे data को Randomly access किया जा सकता है।

इस memory में data स्वतः Store होता है। जिससे CPU कि paerformance बड़ जाती है। DRAM भी एक volatile memory है इसमें भी जब तक power on रहता है तब तक data store रहता है जब power off हो जाता है तब data अपने आप delete हो जाता है।

 

Advantages and Disadvantages of DRAM in hindi

Advantages of DRAM

  1. यह सस्ता होता है।
  2. इसका memory cell design बहुत simple होता है।
  3. इसका size छोटा होता है।
  4. इसकी capacity ज्यादा होती है।
  5. यह power कम consume करता है।

Disadvantages of DRAM

  1. इसकी speed slow होती है।
  2. Power off होने पर इसका data अपने आप delete हो जाता है।
  3. इसको बार बार refresh करना पड़ता है।

RAM कैसे काम करती है?(how ram works in Hindi)

जब आप अपने computer को on करते है। सबसे पहले windows load होता है और फिर आप कोई application को open करते है। जिस पर आप work करना चाहते हो। लेकिन जब भी आप अपने computer , laptop या mobile को कोई भी instruction देते हो तो वो instruction और data सबसे पहले RAM के पास स्टोर होता है

और फिर RAM उस data को process करने के लिए processor के पास send करता है। और फिर Processor उस data को,  जो RAM ने भेजा था उसको process करके फिर से processor उस data को RAM को भेजता है। तब जाकर अपने जो भी input diya था तब उसका परिणाम दिखाई देता है।

चलिए इस process को एक उदाहरण के साथ समझते है। जब कभी भी आप अपने computer, laptop और mobile में कोई game खेलते हो। या फिर आप एक साथ कई सारे app को चलते हो। या फिर कोई video clip , photo वगैरा edit करते हो । इन सारे process को run करने के लिए space कि जरुरत पड़ती है जो RAM से आता है।

एक आसान उदाहरण के साथ समझते है। जैसे आप जब कोई गेम जैसे – क्रिकेट , हॉकी  , वॉलीबॉल इत्यादि खेलते हो तो आपको एक जगह  जरूरत पड़ती है ऐसे ही जब आप अपने फोन में जब कोई काम करते हो तो वह काम run होने के लिए space की जरूरत पड़ती है और वह स्पेस RAM से आता है।

RAM का काम क्या है?

 जब  कभी आप कोई गाना सुनते हो या कोई movie देखते हो  और जो गाना या movie देख रहे हो वो memory card में store है तब CPU क्या करता है  उस song या movie को memory card से निकलकर RAM में play करता है।

आप जीतना aap एक साथ चलाओगे,  उतनी ज्यादा RAM का उपयोग होगा। इसलिए लोग कहते है जितना ज्यादा RAM अपके mobile, laptops और computer me होगी । आप ज्यादा से ज्यादा app एक साथ run कर सकते हो। और फिर मोबाइल भी कभी नहीं slow होगा और hang भी नहीं करेगा। इसीलिए आप जितना हो सके उतना RAM को खाली रके।

जब आप अपने फोन को बंद करते हो तो अपने जो भी application open करके रखी थी जब आप फोन को on करेंगे तो वो सारे application close होंगे जो अपने ओपन किया था। इसीलिए इस memory को volatile memory कहते है । अब आप समझ गए होंगे कि RAM क्या होता है और इसका काम क्या है?

 

इसे Random Access Memory क्यों कहा जाता है?

RAM में data और instruction cells में store होता हैं। अब आपके  मन में  यह सवाल होगा की cell क्या है? cell कुछ row और column से मिलकर बनी होती है। और हर एक cell के पास अपना एक  स्थाई पता (unique address) होती हैं। जिसे cell path भी कहते हैं। इन सभी cells से CPU  अगल अलग DATA प्राप्त करता है। बिना किसी order के मतलब RAM में store data को Randomly Access किया जा सकता है। इसी के कारण इसका नाम Random Access Memory रखा गया है।

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here